Direct Selling Diploma Fees | Shoolini University PG Diploma Course

Direct Selling Diploma Fees हिंदी में | Shoolini University PG Diploma Course

Spread the love

अब तक आप जान ही गए होंगे कि डायरेक्ट सेलिंग भारत में बहुत तेजी से फैल रही है, और 2025 तक इस उद्योग में बहुत सारे बदलाव होंगे। इस बदलाव में सबसे बड़ा बदलाव डायरेक्ट सेलिंग डिप्लोमा कॉलेज कोर्स और स्कूल कोर्स के रूप में हुआ है। . डायरेक्ट सेलिंग डिप्लोमा फीस के बारे में आज पूरा भारत ऑनलाइन सर्च कर रहा है, क्योंकि अब भारत इस उद्योग के प्रति काफी सक्रिय हो गया है।

हाल ही में अखबार और न्यूज चैनलों पर यह भी देखने को मिला है कि नरेंद्र मोदी की सरकार आने वाले स्कूल और कॉलेज के कोर्सेज में नेटवर्क मार्केटिंग से जुड़े विषय को भी जोड़ेगी. इसके अलावा फिलहाल शूलिनी यूनिवर्सिटी और आईडीएसए ने संयुक्त रूप से डायरेक्ट सेलिंग के लिए पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा कोर्स (पीजीडीडीएस) तैयार किया है।

इस लेख में हम डायरेक्ट सेलिंग डिप्लोमा कोर्स फीस और शूलिनी विश्वविद्यालय से संबंधित सभी जानकारी प्राप्त करेंगे, और यह जानकारी इस प्रकार थी-

डायरेक्ट सेलिंग कोर्स के लिए स्कूलों को मंजूरी

कुछ समय पहले अखबार और न्यूज चैनल पर खबर आई थी कि सरकार जल्द ही विश्वविद्यालयों में नेटवर्क मार्केटिंग कोर्स जोड़ेगी। लखनऊ की खबर में माध्यमिक शिक्षा मंडल के निदेशक विजयपाल बहादुर ने कहा कि स्कूलों के पाठ्यक्रम में नेटवर्क मार्केटिंग से जुड़े अतिरिक्त पाठ्यक्रम जोड़े जाएंगे.

यह कोर्स बहुत जल्द पूरे भारत में लागू किया जाएगा, हालांकि अभी इस कोर्स की रूपरेखा तैयार की जा रही है। इस उद्योग के माध्यम से छात्रों को नौकरी के लिए भटकना नहीं पड़ेगा।

Direct Selling Diploma Course College

हाल ही में, भारत में डायरेक्ट सेलिंग बिजनेस के लिए पहला पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा कोर्स तैयार किया गया है, जो छात्रों को उद्यमिता के अवसर प्रदान करेगा। इस कोर्स को शूलिनी यूनिवर्सिटी और आईडीएसए द्वारा संयुक्त रूप से तैयार किया गया है, जिसमें उद्योग से संबंधित दिशा-निर्देश, उद्योग को नियंत्रित करने वाले नियम, पोंजी और रियल कंपनियों के बीच अंतर आदि से संबंधित महत्वपूर्ण जानकारी दी जाएगी।

2021-22 में, Shoolini University प्रत्यक्ष बिक्री के लिए उत्कृष्टता केंद्र (CEDSA) स्थापित कर रहा है, जिसे आईडीएसए भी अपना समर्थन देगा। यह Graduate Diploma उद्योग के विशेषज्ञों के साथ-साथ शिक्षा और अनुसंधान के माध्यम से जनता को प्रत्यक्ष बिक्री व्यवसाय के बारे में विचारों की स्पष्टता प्रदान करेगा।

भारत में नेटवर्क मार्केटिंग व्यवसाय को लगभग 25 वर्षों के बाद उचित मान्यता मिल रही है, जैसे MoCA वर्तमान में प्रत्यक्ष बिक्री दिशानिर्देश जारी कर रहा है और 15 राज्य MLM स्वीकार कर रहे हैं आदि। इसके अलावा, भारत में लगभग सभी प्रत्यक्ष बिक्री कंपनियां अंतरराष्ट्रीय स्तर पर काम कर रही हैं, और वर्तमान में वहाँ विभिन्न डायरेक्ट सेलिंग कंपनियों से जुड़े 20 मिलियन से अधिक वितरक हैं।

नई दिल्ली में इंडियन डायरेक्ट सेलिंग एसोसिएशन (IDSA) ने शूलिनी के साथ मिलकर सेंटर फॉर एक्सीलेंस इन एकेडमिक्स (CEDSA) के लॉन्च की घोषणा की, और यह भारत का पहला सेंटर ऑफ एक्सीलेंस होगा। यह भारत के सत्र 2021-22 से शुरू होगा, जिसमें एक साल का पीजी डिप्लोमा होगा।

Features of Post Graduate Diploma

PGDDS एक साल का पूर्णकालिक नियमित डिप्लोमा कोर्स होगा जिसमें छह महीने की इंटर्नशिप और छह महीने का कोर्स वर्क शामिल होगा। इसकी छह महीने की इंटर्नशिप किसी भी नामी डायरेक्ट सेलिंग कंपनी में की जाएगी। यह पाठ्यक्रम आमने-सामने व्याख्यान, कौशल कार्यशालाओं और समूह गतिविधियों को नवीनतम प्रौद्योगिकी-आधारित शिक्षण उपकरणों और प्लेटफार्मों के साथ जोड़ देगा।

इंटर्नशिप पाठ्यक्रम के छह महीने तक चलेगी, जिससे छात्र को अपनी पसंद की डायरेक्ट सेलिंग कंपनी के साथ करियर शुरू करने का मंच मिलेगा।

Direct selling course in India fees

इस पीजी डिप्लोमा डायरेक्ट सेलिंग कोर्स की फीस पर नजर डालें तो कुछ समय पहले 1 साल के कोर्स के लिए 1.51 लाख रुपये था, हालांकि फिलहाल आधिकारिक खबरों के मुताबिक इस कोर्स की कीमत 99,000 रुपये है। यह कोर्स पीजी डिप्लोमा लेवल टाइप का है और यह कोर्स फुल टाइम होगा।

This image is taken from NEWS SAMACHAR NETWORK MARKETING.

PG Diploma in Direct selling – Specifications

  • Total Frees: Rs. 1.51 lakh
  • Duration time: 1 year (With full time)
  • Course level: PG Diploma

इसके अलावा आप ऑनलाइन डायरेक्ट सेलिंग बिजनेस भी कर सकते हैं, जिसकी कीमत 450 रुपये से लेकर 5000 रुपये तक हो सकती है, हालांकि यह कम और ज्यादा भी हो सकती है। इन कोर्सेज में आपको रिकॉर्डेड लेक्चर मिलेंगे, जिन्हें आप ऑनलाइन खरीद सकते हैं।

This image is taken from Nishant the Millionaire YouTube channel.

FAQs

सवाल: मैं 12वीं साइंस के बाद नेटवर्क मार्केटिंग कोर्स कर सकता हूं?

उत्तर: हां, आप इस डिप्लोमा कोर्स के लिए 12वीं पास करने के बाद अप्लाई कर सकते हैं। ध्यान रहे कि आपकी उम्र 18 साल तक होनी चाहिए, ताकि किसी भी डायरेक्ट सेलिंग में शामिल होने में कोई परेशानी न हो

प्रश्न: नेटवर्क मार्केटिंग कोर्स में फास्ट ट्रैक जॉइन कैसे करें?

उत्तर: नेटवर्क मार्केटिंग में टीम बनाकर नेटवर्क बनाना बहुत मुश्किल है, लेकिन अच्छी गाइडलाइन से आप फास्ट ट्रैक से जुड़ सकते हैं। जल्दी से एक टीम बनाकर नेटवर्क मार्केटिंग में सफलता प्राप्त करने के लिए आपको निम्नलिखित चार पदों पर कार्य करना चाहिए-

  • एक सूची बनाना और निमंत्रण भेजना
  • एक बैठक है
  • योजना और अनुवर्ती दिखा रहा है
  • शामिल हों

प्रश्न: डायरेक्ट सेलिंग की शुरुआत किसने की?

उत्तर: डायरेक्ट सेलिंग का इतिहास उतना ही पुराना है जितना कि सभ्यता। यह व्यवसाय 2000 ईसा पूर्व में हम्मुराबी की संहिता के रूप में उत्पन्न हुआ, जिसे बेबीलोन के प्रत्यक्ष विक्रेता के कल्याण और अखंडता की रक्षा के लिए डिज़ाइन किया गया था। बाद में यह उद्योग ग्रीस में फैल गया, और फिर यह अमेरिका के तटों तक पहुंच गया।

इसी प्रकार 19वीं और 20वीं शताब्दी में भी यह व्यवसाय फलता-फूलता रहा। दुनिया में पहली डायरेक्ट सेलिंग कंपनी एवन थी, जो उद्योग में शामिल होने वाला डीएसए का पहला संस्करण था।

प्रश्न: डायरेक्ट मार्केटिंग डिप्लोमा कोर्स का सिलेबस क्या है?

उत्तर: शूलिनी ने भारत में पहली बार डायरेक्ट सेलिंग के लिए डिप्लोमा कोर्स शुरू किया है, हालांकि इस कोर्स के सिलेबस के बारे में और कोई जानकारी उपलब्ध नहीं है। कहा जा रहा है कि अभी सिलेबस के लिए सिलेबस पर काम किया जा रहा है, हालांकि इस कोर्स में सिलेबस के तौर पर कई टॉपिक जोड़े जाएंगे, जैसे- अवैध कंपनियों की पहचान करना, एक अच्छा टीम लीडर बनना, कैसे इनवाइट करना है और कैसे मिलना है आदि।
यह डिग्री दो टर्म में पूरी होगी और दोनों पद 6-6 महीने के होंगे, जिसमें 6 महीने इंटर्नशिप के होंगे.

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.