Job vs Network Marketing in Hindi 2022 | बेहतरीन क्या है

Job vs Network Marketing in Hindi 2022 | बेहतरीन क्या है

Spread the love

यह सच है कि आपको सन् 2022 से 2025 तक लगातार नेटवर्क मार्केटिंग के ऑफर मिलते रहेंगे, और हो सकता है कि आप भी उस बिजनेस को करना चाहते हों, लेकिन उसके बाद एक सवाल आता है कि Job vs Network Marketing in Hindi में सबसे अच्छा कौन है? इस लेख में हम इस विषय पर विस्तार से चर्चा करेंगे, और बताएंगे कि Jobs हमें कितने लाभ दे सकती हैं, और Network Marketing हमें कितना लाभ दे सकती है? इसके अलावा, यह भी पता चलेगा कि नेटवर्क मार्केटिंग में हमारे सफल होने का कितना चांस है?

आप सोच रहे होंगे कि हम इस लेख में केवल नेटवर्क मार्केटिंग को बढ़ावा देंगे, लेकिन हम कुछ महत्वपूर्ण बिंदु आपके सामने रखेंगे, जिसके आधार पर आप अपना निर्णय स्वयं ले सकते हैं। हम आप पर कोई दबाव नहीं डालेंगे और सच्चाई को आपके सामने रखने की पूरी कोशिश करेंगे।

Job vs Network Marketing in Hindi – भारत में सबसे अच्छा विकल्प कौन है

क्षमता, कौशल, कार्य संतुलन, सफलता दर, जोखिम और कमाई जैसे मापदंडों के आधार पर Job vs Network Marketing के बीच अंतर को स्पष्ट करने की कोशिश करेंगे। मतलब हम इन बिंदुओं के आधार पर नौकरियों और एमएलएम या नेटवर्क मार्केटिंग के बीच चर्चा करेंगे।

  • योग्यता और शिक्षा
  • कार्य समय और संतुलन
  • कौशल और नौकरी के हित
  • भारत में सफलता दर
  • शीर्ष कमाई
  • जोखिम

ये सभी मानदंड हैं जिनके आधार पर हम तुलना करेंगे।

योग्यता (शैक्षिक)

नेटवर्क मार्केटिंग या डायरेक्ट सेलिंग में सबसे बड़ा अंतर शैक्षिक योग्यता में देखने को मिलता है। मुझे और आपको इस बात की जानकारी होनी चाहिए कि किसी भी नौकरी के लिए शैक्षिक योग्यता की आवश्यकता होती है, और यह बिल्कुल अनिवार्य है।

हम शिक्षा को एक लेबल के रूप में मान सकते हैं, जिसके आधार पर आपको प्रत्येक कार्य में एक मनी पैकेज दिया जाता है।

उदाहरण:

अगर आपके पास IIT की टॉप डिग्री है तो आप हर महीने 1 से 2 लाख रुपये कमा सकते हैं, लेकिन अगर आपके पास सामान्य इंजीनियरिंग कॉलेज की नौकरी है, तो आप हर महीने 12000 रुपये कमा सकते हैं। इस प्रकार भारत में शिक्षा को एक लेबल के रूप में प्रयोग किया जाता है।

यह भी सच है कि भारत में 2019 के सर्वेक्षण के अनुसार, 16.3 प्रतिशत स्नातक छात्र बेरोजगार हैं। साथ ही इस साल आईआईएम इंदौर के एक छात्र को सबसे ज्यादा 50 लाख रुपये का पैकेज मिला है। इस आधार पर कहा जा सकता है कि शिक्षा से भी अच्छी आमदनी हो सकती है।

शिक्षा जीवन का एक बहुत ही अभिन्न हिस्सा है, लेकिन कोई भी अच्छी डिग्री पाने के लिए हमें 20 से 30 साल लगते हैं, और नौकरी में एक अच्छा पद पाने के लिए आपको बहुत मेहनत करनी पड़ती है। इसके अलावा कई सालों तक हमें लाखों रुपये भी खर्च करने पड़ते हैं।

वहीं अगर आप एमएलएम को देखें तो आपको इस बिजनेस में किसी भी तरह की शैक्षणिक योग्यता की जरूरत नहीं है। इस व्यवसाय में शैक्षिक योग्यता के बजाय अनुभव और कौशल पर अधिक ध्यान दिया जाता है।

मैं यह भी नहीं कहना चाहता कि शैक्षिक योग्यता के आधार पर प्राप्त की गई डिग्री गलत है, क्योंकि इस डिग्री को प्राप्त करते हुए हम कई नई और अनोखी चीजें सीखते हैं।

काम और जीवन शैली संतुलन

नौकरी में आपको एक सीमा के भीतर काम करना होता है, लेकिन इस बाजार में आपको लगातार और कई घंटों तक काम करना पड़ता है। इस आधार पर नौकरी एक सही विकल्प है, लेकिन नौकरी में आपको पूरे भविष्य के लिए काम करना होगा और एमएलएम में आपको कम से कम 4 साल तक कड़ी मेहनत करनी होगी।

नेटवर्क मार्केटिंग में अगर आपको 4 साल का अच्छा अनुभव मिलता है, तो आप कुछ ही महीनों में आसानी से बहुत सारा पैसा कमा सकते हैं, और यह निष्क्रिय प्रकार की आय है। मतलब आप इस बिजनेस में टीम बनाने के बाद घर बैठे बिना काम किये भी पैसे कमा सकते है। क्योंकि इस मार्केट में शुरूआत में आप किसी के लिए काम करेंगे, और जैसे ही आपकी टीम उसके बाद आपके डाउनलाइन आपके लिए काम करेंगे। और उनके काम के बदले आपको भविष्य में अनेकों वर्षों तक निष्क्रिय आय घर बैठे मिलती रहेगी।

नौकरी में औसतन आपको 40 से 50 साल तक काम करना पड़ता है, उसके बाद आपको रिटायरमेंट मिल जाता है, लेकिन रिटायरमेंट के बाद आपको कुछ पैसे मिलते हैं। वहीं दूसरी तरफ एमएलएम बिजनेस है, जहां आपको कुछ सालों बाद कई गुना ज्यादा पैसा मिलता है, हालांकि इस बिजनेस में कभी रिटायरमेंट नहीं होता, लेकिन आप इस बिजनेस को बुढ़ापे में भी मजे से कर सकते हैं।

नौकरी में आपको कुछ दिनों की छुट्टी तो मिल जाती है लेकिन इस धंधे में आपको अपनी जरूरत के हिसाब से छुट्टी मिल सकती है और इस छुट्टी में भी आपका काम चलता रहता है.

कौशल और नौकरी में रुचि

किसी भी कार्य को करने के लिए कौशल एक महत्वपूर्ण पहलू है, यदि किसी के पास कौशल है तो वह कुशलता से कार्य कर सकता है, लेकिन अकुशल व्यक्ति संघर्ष करते हुए कार्य कर सकता है। यह पहलू नेटवर्क मार्केटिंग और नौकरी दोनों के लिए महत्वपूर्ण पहलू है। हम सभी जानते हैं कि एक व्यक्ति अपने जीवन के काम और अन्य अनुभवों से कौशल सीखता है।

आप अपने कौशल के आधार पर नौकरी का चयन कर सकते हैं, और आप इसे मजे से कर सकते हैं, लेकिन नेटवर्क मार्केटिंग या डायरेक्ट सेलिंग में आपको जो भी क्षेत्र मिलता है, उसमें आपको काम करना होगा और उसमें कुशल बनना होगा।

सफलता दर

जॉन एम टेलर के शोध में कहा गया है कि एमएलएम व्यवसाय में केवल 00.4% लोग ही सफल होते हैं। उन्होंने 350 से अधिक एमएलएम कंपनियों पर 15 साल के लंबे शोध के बाद यह रिपोर्ट पेश की है। तो हम कह सकते हैं कि MLM सफलता के मामले में जॉब से काफी कम है।

कुछ लोगों का कहना है कि वे कम मेहनत में नेटवर्क मार्केट में सफल हो सकते हैं, लेकिन ऐसा बिल्कुल भी नहीं है। इस इंडस्ट्री में आपको काफी मेहनत करनी पड़ती है और उसके लिए आपको फील्ड में आना पड़ता है, तभी आप सफल हो सकते हैं। अधिकांश लोग इसमें कठिन संघर्ष के कारण असफल होते हैं, लेकिन यदि आप सफल होते हैं, तो आपको प्रतिफल में बहुत कुछ मिलता है।

कमाई

कमाई के मामले में यह एक सच्चाई है कि एमएलएम में बहुत कम लोग (9%) अच्छी कमाई कर सकते हैं। अधिकांश लोग इस बाजार में पैसा लगाते हैं, लेकिन क्षेत्र के संघर्षपूर्ण काम के कारण वे ज्यादा पैसा नहीं कमा पाते हैं।

नौकरी में आपको अपने जीवन में एक निश्चित राशि मिलती है, लेकिन यहां आप बहुत सारा पैसा कमा सकते हैं, लेकिन शर्त यह है कि आपको शुरूआत में ही सकारात्मक सोच के साथ कड़ी मेहनत करते हुए काम करना होगा, अन्यथा नहीं।

जोखिम

नौकरी में कोई जोखिम नहीं होता है, लेकिन नौकरी में आपको वह शानदार जीवन नहीं मिलता है, और व्यवसाय में आपको उच्च स्तर का जीवन मिलता है, लेकिन इस व्यवसाय में भी कई जोखिम होते हैं, जैसे-

  • एमएलएम कंपनी बंद
  • कम सफलता दर
  • कंपनी की संतुष्टि
  • ब्रेकअप का खतरा
  • आंतरिक प्रतियोगिता
  • अधिक संघर्ष

इसके अलावा नौकरी में जोखिम भी हैं, जैसे-

  • सीमित वृद्धि
  • काम की मजबूरी
  • नौकरी की असुरक्षा

निष्कर्ष

मुझे पूरी उम्मीद है कि आपको इस लेख में कुछ नई और अच्छी चीजें मिली होंगी, और हो सकता है कि आप इस लेख के कारण भ्रमित हुए हों, लेकिन जीवन के फैसले खुद लेने चाहिए।

मुझे लगता है कि आपको नेटवर्क मार्केटिंग के भविष्य और नौकरियों के भविष्य की भी तुलना करनी चाहिए। इससे आपको निर्णय लेने में आसानी होगी और साथ ही आप बेहतरीन निर्णय लेने में भी सक्षम होंगे।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.